इंडिया में रैप सिंगिग का माहौल यूट्यूब के आने के बाद कुछ ज़्यादा ही गर्माया है। पहले कितने कलाकार थे, जो गली मुहल्ले में रहकर अपनी प्रतिभा को दिखा नहीं पाते थे। उन्हें एक बड़े प्लेटफार्म की ज़रूरत थी और वह वहां तक पहुंच नहीं पाते थे।

आज वैसा नहीं है। आज इंटरनेट के चलते पूरी दुनिया एक गांव बन चुकी है। अब अगर किसी में ज़रा भी टेलेंट है तो उसे आगे बढ़ने से कोई नहीं रोक सकता। इसी बात का जीता जागता सुबूत हैं, हिन्दुस्तान के गली मुहल्ले से निकले यह रैपर।

नावेद शेख़

“मुझे ऊंचाई पर देखकर हैरान हैं बहुत लोग, किसी ने मेरे पांव के छाले नहीं देखे “

ऐसा लगता है यह शेर नावेद शेख़ उर्फ नेज़ी पर ही कहा गया है। नावेद मुम्बई की चॉल में पैदा हुए। चॉल में रहते हुए लगातार मुशकिलों का सामना करके अपने आपको उन लोगों के बीच साबित किया जो पहले से ही बड़े नाम बन चुके थे। आज उन पर फ़िल्म बन रही है,  लोग उनको जान रहे हैं। उनका यहां तक का सफर लेकिन बहुत ही मुशकिल रहा है।

naezy, Gullyboy
source

विवियन फर्नांडीस

डिवाईन ने खुद अपने इंटरव्यू में बताया है कि एक वक़्त था जब वह अपने आप में ही फसा हुआ था। उसे लोगों पर गुस्सा आता था, उसने अपने गुस्से को अपने शब्दों में ढाला और आज हिन्दी और अंग्रेजी के रैपरो मेें अपनी अलग पहचान बनायीं। विवान के माता पिता दुबई में रहते हैं, वह यहां अपनी दादी के साथ रहते थे। दादी के मरने के बाद वह अकेले रहते हैं।

DIVINE-Vivian-Fernandes
source

ऐमीवे बंटाई

ऐमीवे बंटाई का असली नाम शाहरूख़ शेख़ है। वह मुम्बई में पैदा हुए, यहीं उन्होंने रैप लिखना और गाना शुरू किया। वह पहले इंग्लिश में गाते थे तो उतने फैमस नहीं हुए फिर उन्होंने हिन्दी में गाना शुरू किया तो चीजें जल्द ही बदल गईं। आपने ऐमीवे बंटाई और रफ़्तार का रैप बैटल यूट्यूब पे जरूर देखा होगा।

Emiway-Bantai-, gully boy
source

दीलिन नायर “रफतार”

दीलिन नायर यानि “रफतार” पहले मशहूर गायक हनी सिंह के ग्रुप माफिया मुंडेर में थे। इस ग्रुप से अलग होने पर इन्होंने आर.ड़ी.बी के साथ तीन गानों की डील साईन की। इन्होंने फ़िल्मों में डांसर के रूप में भी काम किया। आज यह रफतार के नाम फैमस हैं। यूट्यूब पर इनको देखने वाले करोड़ों में हैं।

Raftar, gullyboy
source

परधान

‘परधान’ हरियाणा का एक लड़का है। जिसने हरियाणा की मिट्टी से में लिखना सीखा। उसने हिरयाणा के बारे में ही लिखकर बहुत नाम कमाया है। वह आज अपने ही दम पर बहुत कुछ करता है। वह भी यूट्यूब पर फैमस है। उसके भी सुनने वालों की संख्या करोणों में है।

pardhan, gullyboy
source

फ़िल्म गल्ली बॉय भी इन्हीं में से दो कलाकारों पर बन रही है। नावेद शेख़ और विवियन डिवाईन की कामयाबी ने ही ज़ोया अख़तर का ध्यान मुम्बई की छोटी सी बस्ती की तरफ खींचा। इस फ़िल्म से दर्शक भी काफी उम्मीद लगाये बैठे हैं।